ads

Sushant Singh Rajput के दोस्त सिद्धार्थ ने किया उन्हें याद, कहा- उनकी वजह से मैंने सपने देखना सीखा

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने इसी साल अप्रैल में इस दुनिया को अलविदा कह दिया। उनके निधन से फैंस अभी तक उबर नहीं पाए हैं। वहीं, सुशांत के करीबी दोस्त लगातार उन्हें याद करते रहते हैं। हाल ही में सुशांत के करीबी दोस्त सिद्धार्थ गुप्ता ने एक्टर के बारे में कई अहम चीजें बताई। उन्होंने बताया कि किस तरह सुशांत उन्हें हर दिन इंस्पायर करते थे। सिद्धार्थ गुप्ता टीवी प्रोड्यूसर विकास गुप्ता के छोटे भाई हैं। वह 2018 से 2019 तक सुशांत के साथ रहे थे।

हर सुबह भजन गाते थे

द क्विंट को दिए अपने इंटरव्यू में सिद्धार्थ ने कहा, 'वह मेरे लिए काफी मायने रखते थे। वह मेरे मेंटर, भाई थे। उनके साथ रहने का मतलब हर दिन इंस्पायर होने जैसा था। हम दोनों की पसंद एक जैसी थी, यही वजह है कि हमारे बीच दोस्ती जल्दी हो गई। सुशांत को स्पोर्ट्स से काफी लगाव था और मुझे भी। वो इंजीनियर थे और मैं भी, उन्हें साइंस में रूचि थी और मुझे भी। उन्हें अकेले रहना बिलकुल पसंद नहीं था।' सिद्धार्थ ने आगे बताया, सुशांत सुबह जल्दी उठते थे और भजन गाते थे। वह मेरे कमरे के दरवाजे को थोड़ा सा खोल देते थे ताकि भजन की आवाज से मैं उठ जाऊं। मेरे लिए उठते ही कॉफी तैयार होती थी। सुशांत को कॉफी बहुत पसंद थी और उनके कारण मैं भी कॉफी पीने लग गया था।'

आध्यात्म में था गहरा विश्वास

सिद्धार्थ ने बताया, 'सुशांत को आध्यात्म में गहरा विश्वास था। उनका मानना था कि इससे काम करने की क्षमता में इजाफा होता है। मैं सुशांत से जिंदगी के अलग-अलग पड़ावों पर मिला और हर पड़ाव पर वह मुझे एक अलग इंसान लगे। वह किसी भी टॉपिक पर बात कर सकते थे। सुशांत की वजह से ही मैं सपने देखना और उन्हें पूरा करना सीख पाया।' बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को अपने मुंबई वाले फ्लैट में मृत पाए गए थे। जिसके बाद सुशांत के परिवार ने उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर गंभीर आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। जिसके बाद सुशांत का केस सीबीआई को सौंपा गया। पांच महीने बीत जाने के बाद भी सीबीआई किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है। वहीं, सुशांत के फैंस उन्हें लगातार याद करते रहते हैं।



Source Sushant Singh Rajput के दोस्त सिद्धार्थ ने किया उन्हें याद, कहा- उनकी वजह से मैंने सपने देखना सीखा
https://ift.tt/3flL6Ra

Post a Comment

0 Comments