ads

इतिहास में दूसरी बार सोने ने दिया 30 फीसदी से ज्यादा सालाना रिटर्न

नई दिल्ली। 2020 को कोरोना ईयर के नाम जाना जाएगा। जिस दौरान सोने की कीमत एक स्तर पर पहुंच गई। भारतीय गोल्ड बाजार में दूसरी बार देखने को मिला, जब सोने में निवेश करने पर रिटर्न 30 फीसदी से ज्यादा का देखने को मिला। जबकि इंटरनेशनल मार्केट में सोना 24 फीसदी के रिटर्न के साथ 2010 का रिकॉर्ड नहीं तोड़ सका। अभी साल खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में कहा जा सकता है कि सोने में रिटर्न का आंकड़ा और बढ़ सकता है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर इंटरनेशनल मार्केट और भारतीय बाजार में सोना पिछले साल के मुकाबले कितना उछला और अब तक कितना रिटर्न दे चुका है।

यह भी पढ़ेंः- निवेशकों ने तीन दिनों में कमाए 6.68 लाख करोड़, अब तीन तक नहीं मिलेगा मौका

भारतीय बाजार में सोना 32 फीसदी तेज
- 31 दिसंबर 2019 को सोने का वायदा भाव 39,100 रुपए प्रति दस ग्राम था।
- 15 दिसंबर 2020 को सोने का वायदा भाव50,679.50 रुपए प्रति दस ग्राम था।
- इस दौरान सोने की कीमत में 32.43 फीसदी का रिटर्न देखने को मिल चुका है। - जबकि 2019 में सोने ने 20.71 फीसदी तक का रिटर्न दिया था।
- 2011 में सोने 37.52 फीसदी का रिटर्न देखने को मिल चुका है।
- इस साल सोना 57,100 रुपए प्रति दस ग्राम के साथ ऑल टाइम हाइक पर पहुंच चुका है।

यह भी पढ़ेंः- Bank holidays list in 2021 : जानिए 2021 में कितने दिन बंद रहेंगे एसबीआई, पीएनबी जैसे बड़े बैंक

दस सालों में वायदा बाजार में सोने दिया रिटर्न

साल वायदा बाजार में कीमत ( रुपए प्रति दस ग्राम ) सालाना रिटर्न ( फीसदी में )
2020 50,679.5 32.43
2019 38,269 20.71
2018 31,702 7.11
2017 29,598 -1.61
2016 30,082 17.11
2015 25,686 -6.53
2014 27,481 -7.86
2013 29,826 -6.14
2012 31,778 16.15
2011 27,359 37.52


विदेशी बाजारों में सोने में 24 फीसदी की तेजी
वहीं बात विदेशी बाजारों की करें तो सोने में 24 फीसदी की तेजी या यूं कहें कि रिटर्न देखने को मिल चुका है। आंकड़ों के अनुसार 31 दिसंबर 2019 1523 ओंस प्रति डॉलर के पास था। जो मौजूदा समय में बढ़कर 1883 डॉलर प्रति ओंस के पास पहुंच चुका है। जबकि 2019 में यही रिटर्न 18.9 फीसदी का देखने को मिला था। वहीं 2010 में सोने की कीमत ने सबसे ज्यादा 29.7 फीसदी की रिटर्न देखने को मिला था।

यह भी पढ़ेंः- कोविड के साल में निवेशक मालामाल, आईपीओ से मिला औसतन 60 फीसदी का रिटर्न

क्या कहते हैं जानकार
केडिया कमोडिटीज के डायरेक्टर अजय केडिया के अनुसार कोविड काल में सोने में सबसे ज्यादा निवेश हुआ है। जिसकी वजह से कीमत में तेजी देखने को मिली है, लेकिन दस साल पहले आई आर्थिक मंदी की वजह से जितने दाम बढ़े थे। उतने नहीं बढ़े। वहीं एजेंल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट ( कमोडिटी एंड रिसर्च ) अजय गुप्ता ने बताया कि कोरोना काल में बीते एक दशक में दूसरी बार सोने ने भारतीय बाजार में 30 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न दिया है। 2010-11 में इससे ज्यादा की तेजी देखने को मिली थी।



Source इतिहास में दूसरी बार सोने ने दिया 30 फीसदी से ज्यादा सालाना रिटर्न
https://ift.tt/37N2iN6

Post a Comment

0 Comments