ads

जेईई मेन्स: चार सेशन में परीक्षा, जिसमें ज्यादा नंबर वहीं जुड़ेगे

नई दिल्ली। इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश के लिए आयोजित होने वाली जेईई मेन्स-2021 का परीक्षा कैलेंडर जारी हो गया है। 16 जनवरी तक आवेदन किए जा सकते हैं। इस बार की प्रवेश परीक्षा कई मायनों में अलग होगी। नए परिवर्तनों में अधिक क्षेत्रीय भाषाओं की शुरूआत, नया परीक्षा पैटर्न तथा और भी बातें शामिल हैं। परीक्षा लगातार चार महीनों में चार सत्रों में आयोजित की जाएगी। हालांकि, यह नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा किया गया यह एकमात्र नया प्रावधान नहीं है। जानिए जेईई मेन्स-2021 परीक्षा की पूरी जानकारी।

साल में चार बार परीक्षा
पहला सेशन- 23-26 फरवरी
दूसरा सेशन- 15-18 मार्च
तीसरा सेशन- 27-30 अप्रेल
चौथा सेशन- 24-27 मई
(परिणाम परीक्षा के अंतिम दिन से 5 दिन के भीतर जारी किया जाएगा)

यह होगा परीक्षा पैटर्न
- परीक्षा पत्र में कुल 90 प्रश्न होंगे
- भौतिकी, रसायन शास्त्र व गणित तीनों विषयों में दो सेक्शन होंगे ए व बी
- सेक्शन ए में 20 प्रश्न होंगे जो कंपलसरी होंगे।
- सेक्शन ए में नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान है।
- सेक्शन बी में 10 प्रश्न होंगे, परीक्षार्थी को सिर्फ 5 प्रश्नों का उत्तर देना होगा।
- सेक्शन बी में नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

13 स्थानीय भाषाओं में होगी परीक्षा
- असमिया, बंगाली, कन्नड़, मलयालय, मराठी, ओडिय़ा, पंजाबी, तमिल, तेलुगु और उर्दू को पहली बार शामिल किया गया है।
- हिन्दी, अंग्रेजी और गुजराती पहले से शामिल हैं।
- परीक्षा की भाषा का चयन ऑनलाइन आवेदन करते वक्त करना होगा। यह बाद में बदली नहीं जा सकेगी।

हर बार बदल सकेंगे शहर
- परीक्षार्थी को आवेदन में परीक्षा के लिए चार शहर चुनने होंगे।
- सबसे वरीयता प्राप्त शहर को पहले ऑप्शन के रूप में चुनना होगा।
- परीक्षार्थी को उपलब्धता के आधार पर इन शहरों में से ही परीक्षा केन्द्र प्रदान किया जाएगा।
- परीक्षा के एक से अधिक सेशन चुनने वाले परीक्षार्थियों को शहर बदलने की सुविधा मिलेगी।
- इसके लिए पहले सेशन की समाप्ति पर करेक्शन विंडो में जाकर बदलाव करना होगा।

photo_2020-12-18_10-34-47.jpg

ऐसे होगा रजिस्टेशन
- परीक्षा के 16 दिसम्बर से 16 जनवरी तक jeemain.nta.nic.in पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।
- 17 जनवरी तक ऑनलाइन फीस भरी जा सकेगी।
- परीक्षार्थी चाहे तो चारों सेशन के लिए एक साथ फीस भर सकता है।
- किसी सेशन की परीक्षा नहीं देने पर फीस रिफंड का भी प्रावधान है।
- इसके लिए जिस सेशन की परीक्षा से फीस वापस लेनी है, उसके लिए आवेदन करना होगा।

जेईई मेन्स 2021: प्रमुख बदलाव
- पहली बार यह परीक्षा 13 भाषाओं में आयोजित की जा रही है।
- परीक्षार्थी को चारों सेशन में परीक्षा देना आवश्यक नहीं है।
- अगर परीक्षार्थी एक से अधिक सेशन में परीक्षा देता है तो उच्चतम अंक वाले सेशन को ही रैंकिंग के लिए अधिकृत माना जाएगा।

इसलिए किए बदलाव
मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखिरियाल निशंक के अनुसार जेईई मेन्स 2021 के लिए हम चाहते हैं कि कोई भी परीक्षार्थी विभिन्न परीक्षाओं और कोरोना के कारण मौका न चूके। परीक्षा के चार सेशन परीक्षार्थियों को ज्यादा मौके देंगे।



Source जेईई मेन्स: चार सेशन में परीक्षा, जिसमें ज्यादा नंबर वहीं जुड़ेगे
https://ift.tt/2KEdGl7

Post a Comment

0 Comments