ads

कोरोना व आसमान छू रहे दाम ने 34 फीसदी घटाई सोने की चमक

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के चलते 2020 में सोने की चमक भी फीकी पड़ गई है। देश में सोने की मांग 11 सालों में सबसे कम रही है। वल्र्ड गोल्ड काउंसिल की रिपोर्ट 2020 के अनुसार दुनिया में सोने की मांग 3759.6 टन रही जो 2019 के मुकाबले 14 फीसदी कम और वर्ष 2009 के बाद सबसे कम रही है। रिपोर्ट के अनुसार सोने की मांग घटने के पीछे प्रमुख वजह ज्वैलरी की मांग में 34 फीसदी कमी है।

यह भी पढ़ेंः- बजट 2021 से उम्मीदों के बीच शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स ने मारी 350 से ज्यादा अंकों की छलांग

प्रतिबंध, मंदी बनी वजह
सोशल डिस्टेंसिंग की वजह से लगे प्रतिबंधों, अर्थव्यवस्था में सुस्ती व कीमत रेकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने से सोने के आभूषणों की मांग प्रभावित हुई है। 2020 में ज्वैलरी के लिए सोने की कुल मांग 1411.6 टन रही जो 2019 के मुकाबले 34 फीसदी कम है।

बैंक खरीदारी
- 59 फीसदी कम दुनियाभर के सेंट्रल बैंकों ने सोना खरीदा
- दूसरी छमाही (2020) में सबसे कम खरीदारी की गई

निवेश
- 21 फीसदी बढ़ी (494.6 टन) तीसरी तिमाही में सोने की निवेश मांग
- 10 फीसदी सोने की छड़ों व सिक्कों की मांग बढ़ी दूसरी तिमाही में

सोना भंडारण में भारत 9वें स्थान पर

देश कितना कितने फीसदी
अमरीका 8,133.5 79.1
जर्मनी 3,363.6 75.0
इटली 2,451.8 70.5
फ्रांस 2,436 65.0
रूस 1040 6.7
चीन 1948.3 3.3
स्विट्जरलैंड 1,040 6.7
जापान 765.2 3.1
भारत 653 7.4
नीदरलैंड्स 612.5 71.5

नोट : आंकड़े वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के अनुसार मीट्रिक टन में, कुल विदेशी मुद्रा भंडार का प्रतिशत सोने का भंडारण।



Source कोरोना व आसमान छू रहे दाम ने 34 फीसदी घटाई सोने की चमक
https://ift.tt/3oBrOKq

Post a Comment

0 Comments