ads

भारतीय व्यापारियों ने चीनी कारोबार को ध्वस्त करने का बनाया प्लान, ड्रैगन को होगा इतना नुकसान

नई दिल्ली। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने कहा कि उसने इस साल चीन से आयात को घटाकर 1 लाख करोड़ रुपये करने का लक्ष्य रखा है। व्यापारियों के निकाय ने एक बयान में कहा कि यह इस साल एक कार्यक्रम चलाएगा ताकि देश के ई-कॉमर्स व्यवसाय को विदेशी कंपनियों के चंगुल से मुक्त किया जा सके।

चीनी कारोबार को समेटेगें भारतीय कारोबारी
व्यापारियों के निकाय ने कहा, 10 जून 2020 से अपने 'बॉयकॉट चाइनीज गुड्स' अभियान के हिस्से के रूप में, कैट ने इस साल के अंत तक चीन से आयात को 1 लाख करोड़ रुपए तक लाने का लक्ष्य रखा है। कैट ने यह भी कहा कि वह सरकार से ई-कॉमर्स नीति, राष्ट्रीय खुदरा व्यापार नीति, केंद्र और सभी राज्यों में व्यापारी कल्याण बोर्ड के गठन, जीएसटी कर प्रणाली के सरलीकरण और देश के व्यापारियों के लिए एक अलग आयकर स्लैब बनाने का आग्रह करेगा।

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today: लगातार 28वें दिन कीमत में कोई बदलाव नहीं, जानिए अपने शहर के दाम

सरकार से की जाएगी मांग
यह सभी जिलों में अधिकारियों और व्यापारियों की एक संयुक्त समिति के गठन के लिए सरकार से आग्रह करेगा और खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम के सरलीकरण की भी मांग करेगा। कैट की प्राथमिकताओं में महिला उद्यमियों को मदद करना भी शामिल है। यह व्यापारियों के लिए पेंशन योजना को और अधिक तर्कसंगत बनाने के लिए भी प्रयास करेगा, व्यापारियों और उनके कर्मचारियों के लिए सब्सिडी वाली बीमा योजना, व्यापारियों के लिए ऋण की आसान पहुंच का लाभ उठाएगा।



Source भारतीय व्यापारियों ने चीनी कारोबार को ध्वस्त करने का बनाया प्लान, ड्रैगन को होगा इतना नुकसान
https://ift.tt/2X9bFRg

Post a Comment

0 Comments