ads

दुनिया की सबसे मूल्यवान आईटी कंपनी बनने के बाद फिर से पिछड़ गई टीसीएस

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज ने एक बार फिर से दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनी का ताज पहना हालांकि यह ताज कंपनी के सिर पर ज्यादा समय तक नहीं रह सका। दोपहर के बाद कंपनी के शेयरों में गिरावट के बाद कंपनी के मार्केट कैप में करीब 3 अरब डॉलर की गिरावट देखने को मिली और कंपनी फिर से पीछे हो गई। आपको बता दें टीसीएस कंपनी ने असेंचर को पीछे छोड़ा था। अब दोनों कंपनियों के मार्केट में एक अरब डॉलर का अंर रह गया है और असेंचर फिर से नंबर एक कंपनी बन गई है।

करीब 170 अरब डॉलर पर आ गया था कंपनी का मार्केट कैप
रिपोर्ट के अनुसार आज कंपनी का मार्केट कैप 170 अरब डॉलर तक पहुंच गया था। जिसके बाद वो दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनी बन गई थी। वास्तव में आज सुबह कंपनी के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही थी। जिसकी वजह से कंपनी का शेयर 52 हफ्तों की उंचाई यानी 3345.25 रुपए पर आ गया था। जिस वजह के कंपनी का मार्केट कैप काफी बढ़ गया था और असेंचर को पीछे छोड़ दिया था। उसके बाद कंपनी के शेयरों में मुनाफावसूलह देखने को मिली और कंपनी के मार्केट कैप में 3 अरब डॉलर की बड़ी गिरावट आ गई और फिर से वो असेंचर से पीछे हो गई। मौजूदा समय में असेंचर का मार्केट कैप 168 अरब डॉलर और टीसीएस का करीब 167 अरब डॉलर पर पहुंच गया है।

10 महीनों में 82 फीसदी का उछाल
वैसे टीसीएस कंपनी के शेयरों में मार्च के बाद से 82 फीसदी का उछाल देखने को मिल चुका है। मार्च 2020 में कंपनी का शेयर 1504.25 रुपए पर आ गया था। जिसके बाद कंपनी के शेयरों में लगातार तेजी देखने को मिली है। यह तेजी बायबैक पॉलिसी और शानदार तिमाही नतीजों के कारण देखने को मिली है। आपको बता दें कि टीसीएस पिछले साल अक्टूबर में भी असेंचर को पछाड़कर दुनिया की सबसे मूल्यवान आईटी सर्विसेज कंपनी बनी थी।



Source दुनिया की सबसे मूल्यवान आईटी कंपनी बनने के बाद फिर से पिछड़ गई टीसीएस
https://ift.tt/3qMw3nU

Post a Comment

0 Comments