ads

Anupama 8th July Written Updates: वनराज को जीरो कहने वाली काव्या का शर्म से झुका सिर, शो में आएगा जबरदस्त ट्विस्ट

नई दिल्ली। शो अनुपमा में फुल ऑन ड्रामा चल रहा है। एक ओर जहां अनुपमा सपनों को पूरा करती हुए डांस स्कूल को शुरू करने की तैयारियों में जुट गई हैं। वहीं वनराज और काव्या की एक ही दिन में नौकरी चली गई। काव्या अपना गुस्सा वनराज पर निकालती है। लेकिन राखी दवे घर में आकर उनकी पोल खोल देती है। जानिए आज क्या होगा शो अनुपमा के लिए लेटेस्ट एपिसोड में।

अनुपमा, वनराज और काव्या की जिंदगी में आया ट्विस्ट

डांस एकेडमी तैयार होने के बाद अनुपमा मंदिर से घर जाती है। जहां वो खुशी से बॉ और बाबू जी को बुलाती है। हाथ में प्रसाद लिए अनुपमा बॉ आंखों में खुशी के आंसू लिए परिवार वालों के ये खुशी खबरी सुनाती है। वहीं दूसरी वनराज कैफे के बंद होने से टूट जाता है। काव्या भी नौकरी से निकाल देने की वजह से काफी परेशान होती है। अनुपमा बताती है कि ये सपना समर ने उन्हें दिखाया था, लेकिन परिवार के सपोर्ट की वजह से वो आज इस मुकाम तक पहुंची हैं। अनुपमा की डांस एकेडमी के बारें में जानकर सभी बहुत खुश हो जाते हैं।

अनुपमा ने बांटी परिवार वालों को जिम्मेदारी

डांस स्कूल में काम करने के लिए अनुपमा अपने ही परिवार को उनके काम सौंपती है। अनुपमा समर-नंदनी को डांस टीचर्स बनाती हैं। स्वीटी को इंटरनेट संभालने की जिम्मेदारी देती है। तोषो और किंचल को मैनजमेंट देती है। बाबू जी को अनुपमा स्कूल का हिसाब संभालने की जिम्मेदारी सौंपती हैं। वहीं बॉ को स्कूल का प्रिसिंपल बनाती है। अनुपमा के काम से पूरा परिवार काफी खुश होता है।

कैफे बंद होने की बात सुनकर भड़की काव्या

वनराज दुखी घर पहुंचता है। घर के अंदर जाते हुए वनराज को बॉ,बाबू जी, बच्चों की कही बातें आती है कि कैसे उन्हें सभी ने सपोर्ट किया। वहीं दूसरी और काव्या किंचल से कहती है कि वो घर में उसकी नौकरी जाने की बात ना बताए। वनराज घर में फोन पर बात करने का दिखावा करता है कि वो काम के सिलसिले में बात कर रहा है, लेकिन तभी फोन की घंटी बजने लगी। ये देख पूरा परिवार हैरान हो जाता है और समझ जाते है कि वनराज परेशानी में है।

वनराज बताता है कि उसके दोस्त को मजबूरी के चलते अपना कैफे बेचना पड़ा रहा है। ये सुनते ही वनराज के बच्चे उसे गले से लगा देती है। अनुपमा वनराज को हिम्मत दे रही होती है कि सब ठीक हो जाएगा। लेकिन तभी काव्या आ जाती है।

 

काव्या ने वनराज को बताया जीरो

वनराज के कैफे के बंद होने की बात सुनकर काव्या अपना अपा खो देती हैं। वो वनराज को सुनाती है कि कैसे वो घरवालों की बातों में आकर अपना करियर बर्बाद कर रहे हैं। काव्या वनराज ये तक कह देती है कि एक दिन ऐसा आएगा जब वो चाय का ठेला लगाएगा। ये बात सुनकर वनराज भड़क जाता है और कहता है कि उसने अपने दिल की सुनी थी और आगे भी वो यही करेगा। काव्या पूरे परिवार के सामने वनराज को बेरोजगार और जीरो कहती है। तभी वनराज काव्या को कहता है कि तुम क्यों इतना परेशान हो रही हो? तुम्हारे पास नौकरी है, अच्छी सैलरी है। आने वाले टाइम में प्रोमोशन होने वाला है। तभी राखी देव की एंट्री हो जाती है।

राखी दवे ने खोल दी काव्या की नौकरी जाने की पोल

राखी देव काव्या को वनराज पर भड़कते हुए देखती हैं। राखी दवे ताना देते हुए तोषो को कैंची लाने को कहती है। जब तोषो कैंची लाने की वजह पूछता है तो वो कहती है कि कल से घर पर रहकर टाइम काटने में मदद मिलेगी। राखी दवे पूरे परिवार के सामने कहती है कि एक ही दिन में मिस्टर और मिसेज शाह नौकरी से निकल दिए गए। काव्या की नौकरी की बात जानकर पूरा परिवार हैरान हो जाता है। राखी दवे बताती है कि कैसे काव्या की एक गलती की वजह से उसकी नौकरी चली गई। लेकिन किंचल का भी प्रोमोशन काव्या की वजह से रुक गया।

काव्या को मिला परिवार वालों को सपोर्ट

काव्या की नौकरी जाने की बात सुनकर पूरा परिवार उन्हें सपोर्ट करता है। वनराज काव्या को सॉरी कहता है। बाबू जी भी काव्या को कहते हैं कि वो उनके साथ हैं। अनुपमा भी काव्या को सपोर्ट करती है। ये देख राखी दवे काफी हैरान हो जाती है और अनुपमा से इसकी वजह पूछती है। अनुपमा बताती है कि कैसे एक औरत के लिए घर से बाहर निकलना बड़ी बात है। तभी काव्या गुस्से में कहती है कि ये सब अनुपमा की वजह से हुआ है।

( Precap- अनुपमा शो में आगे दिखाया जाएगा कि कैसे किंचल की मां राखी दवे उन्हें घरवालों से अलग रहने के लिए कहती है। वो किंचल को समझाती हैं कि वो पूरी तरह से घरवालों में ही पीस कर रह गई है। ये बात अनुपमा सुन लेती है और राखी दवे से कहती है कि जो उनके बच्चों का फैसला होगा वो उसे स्वीकार कर लेंगी। )



Source Anupama 8th July Written Updates: वनराज को जीरो कहने वाली काव्या का शर्म से झुका सिर, शो में आएगा जबरदस्त ट्विस्ट
https://ift.tt/3dRdRWk

Post a Comment

0 Comments