ads

अडानी ग्रुप की कंपनियों के लिए बुरी खबर, SEBI और DRI ने शुरू की जांच, शेयर हुए धड़ाम

नई दिल्ली। गौतम अडानी ( Gautam Adani) के अडानी ग्रुप की लिस्टेट कंपनियों को बड़ा झटका लगा है। ऐसा संसद में अडानी ग्रुप के खिलाफ मसला उठाने के बाद हुआ। केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री भगवत किशन राव ने संसद में दिए एक लिखित बयान में बताया है कि डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस ( DRI ) और SEBI अडानी ग्रुप की कुछ कंपनियों की जांच कर रही है। यह जांच SEBI के नियमों के अनुपालन से जुड़ी हैं। वित्त राज्यमंत्री ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय की तरफ से इस मामले में कोई जांच नहीं की जा रही है।

Read More: पब्लिक सेक्टर की ये कंपनी दे रही है घर बैठे 2 करोड़ जीतने का मौका, आप भी उठा सकते हैं इसका लाभ

धड़ाम हुए शेयर

वित्त राज्य के बयान के बाद अडानी ग्रुप के शेयरों में भारी गिरावट देखी जा रही है। संसद में मामला उठते ही अडानी ग्रुप की सभी कंपनियों में भारी गिरावट देखने को मिली है। अडानी पोर्ट में 2.45 फीसदी की गिरावट, अडानी ग्रीन एनर्जी में 3.53 फीसदी की गिरावट, अडानी एंटरप्राइजेज में 3 फीसदी की गिरावट, अडानी ट्रांसमिशन में 1.75 फीसदी की गिरावट, अडानी टोटल गैस में 5 फीसदी की गिरावट और अडानी पावर में 3.55 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है।

सेबी की ओर से इस मामले में जारी है जांच

SEBI इस मामले की जांच कर रही है कि अडाणी ग्रुप के शेयर्स को मैनुपुलेट तो नहीं किया जा रहा है। साल 2020 में यह जांच शुरू हुई थी जो अब तक जारी है। अडाणी ग्रुप की छह कंपनियों ने पिछले एक साल में 200-1000 पर्सेंट तक रिटर्न दिया है। अडाणी ट्रांसमिशन का शेयर 669 पर्सेंट, अडाणी टोटल गैस 349 पर्सेंट, अडाणी एंटरप्राइजेज 972 पर्सेंट, अडाणी ग्रीन गैस 254 फीसदी, अडाणी पोर्ट 147 फीसदी और अडाणी पावर 295 फीसदी गेन किया हैं।

Read More: इस स्कीम से आप निकाल सकते हैं 5 लाख रुपए, इन शर्तों को करना होगा पूरा

6 कंपनियों के खिलाफ उठा है मामला

अडानी ग्रुप की कुल 6 कंपनियां स्टॉक एक्सचेंजों पर लिस्टेड हैं और कारोबार करती हैं। इन कंपनियों में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPIs) की होल्डिंग शेयरों के दिन-प्रतिदिन के कारोबार पर आधारित है। SEBI विनियमों के अनुपालन के संबंध में कुछ अदानी ग्रुप की कंपनियों की जांच कर रहा है। इसके अलावा DRI अदानी ग्रुप ऑफ कंपनीज से संबंधित कुछ संस्थाओं की कानूनों के तहत जांच कर रहा है।

Read More: अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स का हेडक्वार्टर मुंबई नहीं अहमदाबाद होगा, बड़े लेवल पर जिम्मेदारी में भी फेरबदल

विदेशी फंड्स एकाउंट फ्रिज करने की भी आई थी सूचना

हाल ही ये सूचना भी आई थीं कि नेशनल सिक्योरिटीज़ डिपोज़िटरी लिमिटेड ( NSDL ) ने 3 विदेशी फंड्स के अकाउंट फ्रीज कर दिए हैं, जिनकी अडानी ग्रुप की कंपनियों में बड़ी हिस्सेदारी है। अडानी ग्रुप की 5 कंपनियों में विदेश फंड्स का निवेश है और शेयर्स की कुल कीमत 43,500 करोड़ रुपए है। इस बारे में गौतम अडानी ग्रुप की तरफ से आए स्टेटमेंट में कहा गया कि फंड्स के अकाउंट फ्रीज नहीं किए गए हैं। ऐसी रिपोर्ट्स पूरी तरह से निराधार है।

Read More: 500 रुपए में खुलवाएं डाकघर बचत खाता, मिलेगा हाई रिटर्न और 7000 की टैक्स छूट



Source अडानी ग्रुप की कंपनियों के लिए बुरी खबर, SEBI और DRI ने शुरू की जांच, शेयर हुए धड़ाम
https://ift.tt/3rhXvLI

Post a Comment

0 Comments