ads

Zomato Listing: जोमैटो ने इतने लोगों को बना दिया करोड़पति, इन दिग्गज कंपनियों को पछाड़ा

नई दिल्ली। ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो (Zomato) ने मार्केट में अपना आईपीओ लॉन्च कर जबदरस्त रिकॉर्ड बनाया है। लिस्टिंग के बाद कंपनी ने शुक्रवार को शेयर बाजार में एंट्री की और जबरदस्त प्रदर्शन किया। जोमैटो का शेयर अपने इश्यू प्राइस से 53 फीसदी प्रीमियम पर लिस्ट (Zomato Listing) हुआ था। इसने साथ ही 18 लोगों को एक ही दिन में डॉलर मिलिनेयर यानी 10 लाख डॉलर का मालिक बना दिया। कंपनी के 76 रुपए आईपीओ प्राइस से शुरू होकर 115 रुपए तक पहुंचा।


जोमैटो ने इनको बनाया मालामाल
जोमैटो कंपनी के को-फाउंडर और चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर गुंजन पाटीदार के शेयरों और ईसॉप्स की कीमत 363 करोड़ रुपए पहुंच गई। एक और को-फाउंडर और न्यू बिजनेसेज के हेड मोहित गुप्ता के ईसॉप्स की कीमत 195 करोड़ रुपए हो गई। कंपनी को कोफाउंडर और सीईओ दीपेंद्र गोयल की वर्थ 4,650 करोड़ रुपए (62.4 करोड़ डॉलर) पहुंच गई। दीपेंद्र की जोमैटो में 5.5 फीसदी हिस्सेदारी है जिसमें ईसॉप्स भी शामिल है।

 

READ MORE:- Paytm आईपीओ में निवेश करने का सुनहरा मौका, देश का सबसे बड़ा आईपीओ ला रहा है paytm

 

 

क्र.सं. नाम ईसॉप्स
1. दीपेंद्र गोयल 369,471,500
2. गुंजन पाटीदार 28,877,000
3. मोहित गुप्ता 15,523,900
4. सुरभी दास 14,217,400
5. गौरव गुप्ता 14,197,300
6. आकृति चोपड़ा 11,845,600
7. अक्षांत गोयल 9,091,900
8. अंकित क्वार्टा 8,314,700
9. राहुल गंजू 5,668,200
10. चैतन्या माथुर 5,313,100
11. दामिनी साहनी 3,430,400
12. मंजुनाथ 2,407,243
13. अजीत पासी 2,030,100
14. कुनाल स्वरूप 1,715,200
15. प्रशांत मलिक 1,601,300
16. अलंकित निसाद 1,373,500
17. दामिनी बल्ला 783,900
18. सिद्धार्थ झवर 690,100

जोमौटो ने इन दिग्गज कंपनियों को पछाड़ा
जोमौटो की बंपर कमाई हुई। जिससे उसकी मार्केट वैल्यू 98,732 करोड़ रुपए हो गई। कमाई के मामले में जोमैटो दिग्ग्ज कंपनियों जैसे- टाटा मोटर, महिंद्रा एंड महिंद्रा और कोल इंडिया से भी आगे निकल गया है। जोमैटो का आईपीओ का मूल्यांकन एक्सपर्ट्स ने करीब 60,000 करोड़ रुपए आंका था। मगर आईपीओ को 38 गुना ज्यादा बोलियां प्राप्त हुईं इसने सभी को हैरान कर दिया।

 

READ MORE:- फिक्स्ड डिपॉज़िट को लेकर आरबीआई का नया नियम, उठाना पड़ेगा भारी नुकसान

 

क्या होता है ईसॉप
कई बड़ी कंपनियां सीनियर स्टाफ को खास प्रक्रिया के तहत अपने शेयर खरीदने का अवसर देती है। इसको इंप्लॉइज स्टॉक ऑप्शन प्लान (ESOP) कहा जाता है। इस प्रक्रिया के तहत कंपनी एक तरह से अपने स्टाफ को अपने शेयर खरीदने का अधिकार (rights) देती हैं। कर्मचारी इस प्रक्रिया के तहत मिले अधिकार का इस्तेमाल कर कंपनी का शेयर खरीद सकता है। हालांकि कंपनी किसी कर्मचारी को शेयर खरीदने के लिए बाध्य नहीं करती है।



Source Zomato Listing: जोमैटो ने इतने लोगों को बना दिया करोड़पति, इन दिग्गज कंपनियों को पछाड़ा
https://ift.tt/3hYS01x

Post a Comment

0 Comments