ads

बड़े पर्दे पर खूबसूरत सीन लाने के लिए बॉलीवुड सेलेब्स करते है बड़ी जद्दोजहद, कोई 50 डिग्री में शूट करता है तो कोई कड़ाके की ठंड में

बॉलीवुड फिल्मों में लोकेशन पर काफ़ी ध्यान दिया जाता है। देखने वाले फ़िल्म की स्टोरी के साथ लोकेशन पर भी पूरा ध्यान देते है कि यह सीन किस जगह का है। यहीं कारण है जो डायरेक्टर भी फिल्मों में रियलिटी टच बरकरार रखने के लिए रियल लोकेशन पर जाकर ही शूट करते हैं। वैसे देखने में तो यह सभी को बहुत शानदार लगता हैं लेकिन क्या कभी किसी ने सोचा हैं कि यह सीन करने में एक्टर व एक्ट्रेस को कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। शायद नहीं। तो चलिए जानते है कि किन किन बॉलीवुड फिल्म लोकेशन पर शूटिंग करना पड़ा हीरो व हीरोइन के लिए मुश्किल।

लकी नो टाइम फ़ॉर लव

बात करें लकी नो टाइम फॉर लव की तो यह मूवी रशिया के बैकग्राउंड में बनी थी। इस मूवी में सलमान खान और स्नेहा उलाल थे। इस मूवी की शूटिंग कड़ाके की सर्दी में हुई थी। एक्टर ने एक इंटरव्यू में बताया कि वहाँ पर शूटिंग करना बहुत मुश्किल हुआ था क्योंकि वह 12 बजे रात होती थी और 4 बजे सुबह हो जाती थी। जिसके कारण लाइट की भी काफ़ी दिक्कत देती थी। एक्टर ने कहा इन सब हालातों में शूटिंग करना बहुत ही मुश्किल हुआ था।

दिलवाले

दिलवाले मूवी में शाहरुख खान और काजोल ने काफ़ी जलवा बखेरा था। इस मूवी का एक गाना रंग दे तो मोहे गेरूआ का गाना लोगों को काफ़ी पसंद आया था। इसकी शूटिंग आइसलैंड की कड़कड़ाती ठंड में की गई थी। जबकि इस गाने में काजोल ने कई बार स्लीवलेस ड्रेस पहनी थी। इस गाने की कड़कड़ाती ठंड में शूटिंग करना काफ़ी मुश्किल भरा था।

पान सिंह तोमर

बात करें इरफान खान की मूवी पान सिंह तोमर की तो इसकी शूटिंग चम्बल के बीहड़ में हुई थी। वहाँ पर चोरी डकैती ज्यादा होती हैं। इन सबके बीच में भी शूटिंग करना बहुत मुश्किल हुआ था।

जब वी मेट

फ़िल्म जब वी मेट के ये इश्क हाय गाने की शूटिंग रोहतांग के पासशूट किया गया था। जो समुद्र तल से 13000 फीट की ऊँचाई पर पीर पंजल रैंज में स्थित है। यहाँ पर अक्सर मौसम खराब होता रहता हैं। जिससे लोग हादसे का शिकार हो जाते है।

तेजस

कंगना रनौत की फिल्म की शूटिंग जैसलमेर में हुई है। चमचमाती धूप व गर्म हवाओं का जोर के बीच इस मूवी की शुटिंग की गई थी। आपको बता दें कि तेजस के लिए कंगना ने शूटिंग के दौरान एक फ़ोटो उपलोड किया था और बताया हैं कि यहाँ पर 50℃ में शूटिंग चल रही हैं।

काबुल एक्सप्रेस

अन्य मूवी की भांति काबुल एक्सप्रेस का सफर भी काफ़ी चुनोती पूर्ण रहा है। इस फ़िल्म में अरशद वारसी और जॉन अब्राहम लीड रोल में थे। इसकी शूटिंग कंधार में हुई थी। यह अफगानिस्तान का दूसरा सबसे बड़ा शहर हैं और यहाँ आतंकियों का सबसे ज्यादा दर बना रहता है। फ़िल्म डायरेक्टर कबीर खान ने इंटरव्यू में बताया कि फ़िल्म करने के दौरान क्षेत्रीय आतंकी ग्रुप की धमकियां भी मिली थी। यह शूटिंग करना अपनी जान को जोखिम में डालना था।

जीत की जिद

अन्य मूवी की भांति ही एक्टर अमित साद ने अपनी वेव सीरीज जीत की जिद शूटिंग मनाली की ऊंची पहाड़ियों पर की थी। आपको बता दें कि 12 हजार फीट की ऊँचाई पर मूवी की शूटिंग हुई। जहाँ एक्सट्रीम टेम्प्रेचर और ऑक्सीजन की काफ़ी कमी होती हैं। इसलिए और मूवी की तरह इस मूवी को करना भी बहुत मुश्किल हुआ था।

द हीरो- स्टोरी ऑफ स्पाई

इस मूवी की भी शूटिंग काफ़ी चुनोती भरी थी। इस फ़िल्म का एक सीन काफ़ी ऊँचाई पर था। इस फ़िल्म में क्लाइमेक्स सीन में स्विट्जरलैंड के Jungfraojoch स्थित स्फिंग्स ऑब्जर्वेटरी को दिखाया गया। जो कि बहुत ऊँचाई पर था। जहां तापमान की काफ़ी कमी थी।

the-hero.jpg

Source बड़े पर्दे पर खूबसूरत सीन लाने के लिए बॉलीवुड सेलेब्स करते है बड़ी जद्दोजहद, कोई 50 डिग्री में शूट करता है तो कोई कड़ाके की ठंड में
https://ift.tt/3yVASzQ

Post a Comment

0 Comments