ads

Anupama 14th August written: परेशानियों में घिरी अनुपमा को बाहर निकालेंगे अजय देवगन, होगी खास मुलाकात

नई दिल्ली। शो अनुपमा में इन दिनों पर पूरा परिवार लोन और बच्चों की वजह से परेशान है। किंचल ने तोषो के साथ जाने से अपना फैसला बदल लिया है। जिसकी वजह से तोषो गुस्से में घर छोड़कर चला जाता है। वनराज और अनुपमा किंचल को बहुत समझाते हैं, लेकिन किंचल अपनी बात रख। सबको चुप करा देती है। वनराज और अनुपमा ने तय किया है कि वो अपने परिवार के बीच की कड़ियां बनकर उसे हमेशा जुड़ा रखेंगे। इतनी परेशानियों के बीच अनुपमा खुश रहने की कोशिश करती है। तभी अनुपमा को अभिनेता अजय देवगन से बात करने का मौका मिलता है। जानिए आज अनुपमा के लेटेस्ट एपिसोड में क्या होगा।

किंचल ने तोषो के साथ जाने से किया मना

किंचल फैसला लेती है कि वो तोषो के साथ नहीं जाएगी। ये सुनकर अनुपमा किंचल को समझाती है कि वो दोनों ऐसा नहीं करें। अनुपमा कहती है कि वो लोग उनके बिना रह लेंगे। लेकिन वो दोनों अलग ना हो। वनराज भी कहता है कि उन लोगों से उन्हें दूर रहना है ठीक है, लेकिन एक-दूसरे से दूर ना हो। समर और पाखी भी दोनों को कहते हैं कि दोनों जहां भी रहें बस साथ में रहें। बॉ भी कहती है कि शादी के वक्त अग्नि को साक्षी मानकर उन दोनों ने साथ निभाना और साथ रहने का वादा किया था। बाबू जी भी किंचल को समझाते हैं कि उसका पहला रिश्ता तोषो से है फिर परिवार से। अनुपमा किंचल से कहती है कि जिद्द में कोई फैसला नहीं लेते।

परिवार चुनने पर तोषो हैरान

तोषो किंचल से कहता है कि वो उसके जवाब का इंतजार कर रहा है। किंचल कहती है कि वो उसे याद करेगी। ये सुनकर तोषो कहता है कि उसने प्यार और परिवार में से परिवार को चुना। किंचल कहती है कि उसने उसके सामने कोई ऑप्शन जो रख दिए। किंचल कहती है कि उसने परिवार को इसलिए चुना क्योंकि वो सही है। तोषो कहता है कि वो उसका इंतजार करेगा। वो देखना चाहता है कि वो उससे प्यार भी करती है कि या नहीं।

घर में हो ग्रह पूजन

पूरा परिवार तोषो और किंचल की वजह से परेशान होता है। इसी बीच काव्या के फोन पर मैसेज आता है कि उसका इंटरव्यू में सिलेक्शन नहीं हुआ। ये सुनकर काव्या जोर से चिल्लाती है। वनराज उससे पूछता है कि क्या हुआ? तो काव्या बताती है कि उसने बहुत अच्छे से इंटरव्यू दिया था। लेकिन उसो जॉब नहीं मिली। वनराज कहता है कि कोई नहीं कोई दूसरी नौकरी मिल जाएगी। काव्या वनराज को कहती है कि हां जैसे तुम्हें मिल गई। काव्या कहती है कि लगता है कि घर को किसी की नज़र लग गई है। जब तक ग्रह पूजन नहीं होगा। तब तक कुछ ठीक नहीं होगा। काव्या की इस बात पर बॉ भी सहमति जताती है।

वनराज ने दी किंचल को हिम्मत

किंचल कमरे में जाकर तोषो को याद कर रो रही होती है। तभी वनराज आ जाता है। वनराज तेल की बोलत लाता है और किंचल को चंपी करने लगता है। किंचल रोते हुए उठती हैं और रोने लगती है। वनराज किंचल से कहता है कि वो उसे कुछ समझाने नहीं आया है। उसने जो इतना बड़ा फैसला लिया है। कुछ सोचकर ही लिया होगा। लेकिन वो और तोषो यहां रहे या वहां रहे बस साथ में रहे। वनराज बताता है कि कैसे मॉर्डन लड़कियों को घर तोड़ने वाली समझते हैं। गांव की लड़की को घरेलू समझते हैं। वनराज किंचल से कहता है कि बहू के रूप में किंचल को पाकर पूरा परिवार बहुत खुश है।

वनराज किंचल के हीच हुई खास बातचीत

वनराज कहता है कि अगर इस खुशी की कीमत आंसू हैं। तो वो नहीं चाहते कि उन्हें ऐसी खुशी मिले। किंचल कहती है कि मम्मी भी कीमत दे रही है। सबकी खुशी के लिए वो भी यहां रह रही है। किंचल कहती है कि मम्मी के लिए भी काव्या के साथ बहुत मुश्किल है। लेकिन वो फिर भी रह रही हैं। फिर वो क्यों नहीं रह सकती। वनराज किंचल से पूछता है कि वो ऑफिस जाएगी या छुट्टी लेगी? किंचल कहती है कि उसका ऑफिस जाना ही बेहतर होगा। वनराज कहता है कि जो तैयार हो जाएगा नीचे आ जाए। अनुपमा उसके लिए कॉफी बना रही है। साथ में पिएंगे।

वनराज अनुपमा ने की बच्चों को लेकर बात

किंचल के कमरे से बाहर आते हुए वनराज को अनुपमा मिल जाती है। अनुपमा पूछती है चंपी? पता नहीं लोग क्यों समझते हैं कि रोते हुए बच्चों को चुप कराना मां को आता है? वनराज कहता है कि उसे नहीं पता कि पिता को बच्चों को करना आता है या नहीं? लेकिन आना चाहिए। वनराज कहता है कि एक पिता का बच्चों की जिंदगी में गेस्ट अपीरियंस होता है। अनुपमा कहती है कि अच्छा हुआ वो किंचल के पास चले गए। वरना वो समझाने जाती तो दोनों ही तोषो को याद कर रोने लगते। अनुपमा वनराज को कहती है कि वो पूछ लें कि तोषो वहां पहुंच गया? तभी राखी दवे का वाइस मैसेज आ जाता है। जिसे सुनकर अनुपमा कहती है कि मतलब तोषो वहां पहुंच गया।

समर ने अनुपमा को लोन मिलने की उम्मीद

समर भागते हुए अनुपमा और वनराज के पास आता है। समर बताता है कि उसके दोस्त के पापा बैंक में है। जहां पर नया बिजनेस खोलने वालों को लोन दिया जाता है। समर कहता है कि उसने बात कर ली है। समर को यूं देख वनराज को एहसास होता है कि कैसे वो बस पहले तोषो को ही सपोर्ट किया करता था और समर को नीचा दिखाया करता था। समर मां से कहता है कि सब ठीक हो जाएगा।

किंचल और काव्या के बीच बहस

किंचल ऑफिस के लिए निकल रही होती है। तभी काव्या किंचल से कहती है कि तोषो और उसके बीच में जो भी हुआ। उसे देखकर वो दुखी है। किंचल कहती है कि वो उसका खुद का फैसला था और ये देख उसे दुख हो रहा है। तभी काव्या कहती है कि नहीं अच्छा लग रहा है। काव्या अंदर से सोचती है कि उसकी हर बात उल्टी पड़ रही है। काव्या किंचल से कहती है कि वो ऑफिस जाकर बॉस से उसकी नौकरी के लिए बात कर लें। किंचल गुस्सा में काव्या पर चिल्ला पड़ती है। ये देख काव्या कहती है कि आज की बहुओं में सास से बात करने की तमीज नहीं है। ये बात बॉ सुन लेती है। बॉ काव्या को कहती है वो उसके लिए चाय बना लें।

लेकिन काव्या बना कर देती है। बॉ फिर काव्या का ही डायलॉग बोलती है कि आज की बहुओं को तो सास से बात करनी की तमीज ही नहीं है। काव्या कहती है कि उन्होंने सुन लिया था। बॉ काव्या को समझाती है कि किंचल अभी परेशान है। ऐसे में वो सताए नहीं। काव्या बॉ से कहती है कि ग्रह पूजन का कुछ सोचा है। बॉ बताती है कि वो पुजारी के पास रही है।

अनुपमा को मिला बड़ा मौका

अनुपमा और वनराज अपने-अपने काम पर जाते हैं। वनराज कहता है कि उसने कहीं और भी बात कर रखी है। तभी वनराज बताता है कि तोषो से उसकी बात हुई। वो ठीक नहीं लग रहा था। अनुपमा कहती है कि किंचल चली जाएगी उसके पास तो ठीक हो जाएगा। वनराज कहता है कि वो किंचल को जबरदस्ती नहीं भेज सकते। अनुपमा कहती है कि ऐसी नौबत नहीं आएगी। फिर अनुपमा अपनी डांस एकेडमी और वनराज अपने कैफे जाता है। अनुपमा सोचती है कि बॉ कहती है कि उदास रहने से भगवान उदासी ही देते हैं। इसलिए हमेशा खुश रहना चाहिए। तभी अनुपमा रेडियो सुनने लगती है। अचानक से रेडियो जॉकी कहता है कि आज 5 लकी विनर्स को एक तोहफा मिलेगा।

 

वीडियो कॉल पर हुई अजय देवगन संग अनुपमा की खास बातचीत

अनुपमा फोन उठाती है और भगवान का नाम लेकर नंबर डाइल करती है। अनुपमा का फोन लग जाता है। रेडियो जॉकी अनुपमा से नाम पूछता है और कहता है कि वो काफी लकी है। उनकी बात वो एक्टर अजय देवगन से करवाएंगे। ये बात सुनकर अनुपमा हैरान हो जाती है। वीडियो कॉल पर अनुपमा अजय से बात करती है। अजय देवगन अनुपमा से अपनी लेटेस्ट फिल्म भुज को लेकर बात करते हैं। अनुपमा कहती है कि वो जरूर अपने परिवार के साथ बैठकर उनकी फिल्म देखेगी। अनुपमा अजय से सेल्फी लेने की विनती भी करती है। अजय देवगन संग बात कर अनुपमा खुशी में नचाने लगती है।

बैंक से आया अनुपमा को फोन

अनुपमा को तभी एक फोन आता है। नंबर देख अनुपमा कहती है कि ये नबंर तो बैंक है। अनुपमा फोन उठाती है। फोन पर अनुपमा को बैंक मैनेजर बताती है कि उन्हें बैंक लोन दे सकती है, लेकिन उन्हें घर के पेपर्स गिरवी रखने होंगे। अनुपमा पूछती है कि जिस को बचाने के लिए वो लोन ले रही है। उसे ही गिरवी रखना पडेंगा। बैंक मैनजर कहती है कि वो ठीक से सोच लें।

( Precap- किंचल ऑफिस से घर नहीं लौटती है। पूरा परिवार चिंता में उसका इंतजार कर रहा होता है। वहीं दूसरी ओर दफ्तर में किंचल काम कर रही होती है। तभी उसका बॉस उसके साथ बदतमीजी करने लगता है। किंचल का बॉस उसे काव्या और वनराज का उदाहरण देता है। किंचल घर आती है और रोते हुए गाड़ी से उतरती है। किंचल को देख वनराज और अनुपमा हैरान हो जातें हैं। किंचल रोते हुए अनुपमा के गले लग जाती है। )



Source Anupama 14th August written: परेशानियों में घिरी अनुपमा को बाहर निकालेंगे अजय देवगन, होगी खास मुलाकात
https://ift.tt/37LM2eg

Post a Comment

0 Comments