ads

मंदिर में जाकर शम्मी कपूर ने की थी गीता बाली से शादी, लिपस्टिक से भरी थी पत्नी की मांग

नई दिल्ली। हिंदी सिनेमा जगत में दिग्गजच अभिनेता के रूप में जानें जाते हैं शम्मी कपूर। शम्मी कपूर ने अपनी एक्टिंग से तो लोगों का दिल जीता ही, लेकिन अपने डांस से भी पूरे भारत को अपना दीवाना बना डाला था। जब शम्मी कपूर ने अपना फिल्मी करियर शुरू किया था। तब उन्होंने कुछ खास सफलता हासिल नहीं हुई थी। लेकिन जब शम्मी कपूर के हाथ सफलता लगी तो उन्होंने पीछे मुड़कर देखना छोड़ दिया। अभिनेता ने कई शानदार फिल्मों में काम किया और अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया। जितनी दिलचस्प शम्मी कपूर की प्रोफेशनल लाइफ थी। उतनी ही दिलचस्प उनकी निजी जिंदगी भी थी। 14 अगस्त 2011 में शम्मी कपूर ने दुनिया को अलविदा कह दिया। आज उनकी पुण्यतिथि है। चलिए उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें जानते हैं।

पिता पृथ्वीराज से डरते थे शम्मी कपूर

21 अक्टूबर 1931 में शम्मी कपूर ने दिग्गज अभिनेता पृथ्वीराज कपूर के घर जन्म लिया था। बेहद ही कम लोग ये जानते होंगे अभिनेता का असली नाम शम्मी कपूर नहीं बल्कि शमशेर था। बताया जाता है कि शम्मी कपूर उनके पिता पृथ्वीराज से काफी डर लगता था। बताया जाता है कि जब शम्मी कपूर अपनी मां राम शरणी के गर्भ में थे। उस दौरान उनके दो चाचाओं की एक ही हफ्ते में मौत हो गई थी। ऐसे में पृथ्वीराज और उनकी पत्नी बेटे शम्मी कपूर के जन्म को लेकर काफी चितिंत थे। आपको जानकर हैरानी होगी कि शम्मी कपूर कपूर खानदान के इकलौते बेटे हैं। जिनका जन्म अस्पताल में हुआ था। शम्मी कपूर को राजा की तरह पाला गया है।

राज कपूर की वजह से छूटा स्कूल

शम्मी कपूर के जन्म के बाद उनका पूरा परिवार कुछ सालों के लिए कोलकत्ता शिफ्ट हो गया। कोलकत्ता में 6-7 साल रहने के बाद फिर पृथ्वीराज कपूर मुंबई वापस लौट आए और रणजीत स्टूडियों का काम शुरू कर दिया। 1944 में शम्मी कपूर के पिता ने पृथ्वी थिएटर की शुरूआत की। इस थिएटर में सबसे पहले उन्होंने शकुंतला नाटक किया। नाटक में शम्मी कपूर और राज कपूर ने भी भाग लिया था। जिसकी वजह से दोनों को स्कूल भी छोड़ना पड़ गया था।

दरअसल, नाटक में हिस्सा लेने के लिए स्कूल से राज कपूर को छुट्टी नहीं मिली। इस बात से वो काफी नाराज़ हो गए। गुस्से में राज कपूर स्कूल के प्रिसिंपल से झगड़ पड़े। राज कपूर के साथ ही शम्मी कपूर को भी स्कूल छोड़ना पड़ा था।

 

यह भी पढ़ें- 96 परसेंट मजदूरी और 4 परसेंट गुडलक के साथ ऐसे हीरो बन गए शम्मी कपूर, उनके जन्मदिन पर जानिए ये 10 खास बातें

 

नूतन से करना चाहते थे शादी

असल जिंदगी में शम्मी कपूर काफी रोमांटिक किस्में के आदमी थे। अभिनेत्री नूतन को शम्मी कपूर काफी पसंद किया करते थे। वो उनकी बचपन की गर्लफ्रेंड थीं। बताया जाता है कि 6 साल की उम्र से शम्मी कपूर और नूतन एक-दूसरे के दोस्त थे। साथ ही पड़ोसी भी थे। यही नहीं दोनों के परिवार के बीच काफी अच्छा रिश्ता भी था। जैसे ही शम्मी कपूर और नूतन बड़े हुए दोनों ने डेट करना शुरू कर दिया। शम्मी कपूर नूतन से शादी भी करना चाहते थे, लेकिन नूतन की मां इस रिश्ते से खुश नहीं थीं।

गीता बाली ने जब कहा शादी करने को

नूतन से शादी ना होने के बाद शम्मी कपूर की मुलाकात गीता बाली से हुई। दोनों की मुलाकात फिल्म कॉफी हाउस के सेट पर हुई थी। जिसके बाद दोनों ही फिल्म रंगीन रातें में साथ में दिखाई दिए थे। इस फिल्म की शूटिंग के लिए शम्मी कपूर और गीता बाली साथ में आउटडोर शूटिंग पर गए थे। शम्मी कपूर अपने दिल की बात गीता बाली से कह चुके थे, लेकिन गीता बाली रिश्ते को लेकर राजी नहीं थीं। एक दिन अचानक से गीता बाली ने शम्मी कपूर से कहा कि चलो शादी करते हैं। ये सुनकर शम्मी कपूर काफी खुश हो गए। गीता बाली की शर्त थी कि शादी उसी दिन करनी है

लिपिस्टिक से भरी मांग

गीता बाली की ये बात सुनकर शम्मी कपूर हैरान हो गए थे। उन्होंने गीता बाली से कहा कि आज ही शादी कैसे हो सकती है? तब गीता बाली ने कहा कि जॉनी ने भी तो एक ही दिन में शादी की थी। ये बात सुनते ही शम्मी कपूर और गीता बाली जॉनी वॉकर के घर पहुंच गए। जॉनी ने दोनों को सलाह दी कि वो मंदिर में जाएं और शादी करें। शम्मी कपूर और गीता बाली शादी के लिए मंदिर पहुंच गए। उस वक्त गीता बाली के पास सिंदूर नहीं था। शम्मी कपूर ने लिपस्टिक से उनकी मांग भरी थी।

यह भी पढ़ें- जन्मदिन- बॉलीवुड के रिबेल स्टार थे शम्मी कपूर

राज कपूर संग तुलना करने पर होते थे नाराज

बताया जाता है कि फिल्मी करियर शुरू होने के बाद शम्मी कपूर की तुलना उनके भाई राज कपूर से की जाने लगी थी। जिसे सुनकर शम्मी कपूर अक्सर दुखी हो जाते थे। लोगों का कहना था कि शम्मी कपूर अपने भाई राज कपूर की नकल किया करते हैं। धीरे-धीरे शम्मी कपूर की फिल्में शानदार प्रदर्शन करने लगी। एक दिन ऐसा आया कि शम्मी कपूर ने अपने काम से उनकी निंदा करने वालों का मुंह हमेशा के लिए बंद कर दिया।

गीता बाली की कही बात हुई सच

जब शम्मी कपूर ने गीता बाली से शादी की थी। तब वो उनसे भी पॉपुलर और बड़ी स्टार हुआ करती थीं। एक बार शम्मी कपूर ने दुखी मन से गीता बाली से कहा कि वो फिल्म तुमसा नहीं देखा करने जा रहे हैं। अगर फिल्म नहीं चली तो वो फिल्म इंडस्ट्री को छोड़कर असम में चाय के बागान के मैनजर बन जाएंगे। ये बात सुनकर गीता बाली ने शम्मी कपूर को संभाला और उन्हें हौसला दिया कि वो एक दिन बहुत बड़े स्टार बनेंगे। गीता बाली के कहे ये शब्द असल में सच हो गए। फिल्म तुमसा नहीं देखा शम्मी कपूर के फिल्मी करियर की सबसे बड़ी हिट फिल्म साबित हुई।



Source मंदिर में जाकर शम्मी कपूर ने की थी गीता बाली से शादी, लिपस्टिक से भरी थी पत्नी की मांग
https://ift.tt/2Ui949N

Post a Comment

0 Comments