ads

श्री देवी को हंटर से मारने के बाद सारी रात चीख चीखकर रोया था ये एक्टर

जी हां यहां बात की जा रही है अभिनेता रंजीत की। अभिनेता रंजीत का नाम जब भी सामने आता है ते केवल एक विलन और क्रूर व्यक्ति की छवि ही सामने आती है। 70 के दशक में अभिनेता रंजीत कई नकारात्मक भूमिकाओं में नजर आए थे। उनके सारे किरदार लगभग एक तरह के होते थे। जिसमें वे अभिनेत्रियों के साथ छेड़खानी या ज्यादती करते हुए नजर आते थे। इसलिए उस जमाने में रंजीत पर मनचले का टैग लगा दिया गया था। लेकिन यदि किरदारों से हटकर बात की जाए तो रंजीत बहुत ही संवेदनशील और केयरिंग किस्म के इंसान थे।

उन्होनें ने इस बात का जिक्र एक इंटरव्यू के दौरान किया। इस इंटरव्यू में उन्होनें अपने जीवन के कई पहलुओं को साझा किया। तथा अपने किरदारों के बारे में खुलकर बातचीत की थी। इसी दौरान उन्होनें श्रीदेवी के साथ उनकी फिल्म का एक किस्सा भी साझा किया। जिसमें उन्होनें बताया कि वह श्रीदेवी को हंटर से मारने के बाद कैसे घंटों तक अपने कमरे में रोते रहे थे।

रंजीत ने बताया कि उन्हें एक सीन में श्रीदेवी को हंटर से मारना था। यह करना उनके लिए कठिन था। लेकिन वह इसे मना भी नहीं कर सकते थे। इसके बाद उन्होनें बड़े कठिनाई को के साथ इस सीन को फिल्माया। और रोते हुए अपने कमरे में चले गए और घंटो तक रोते रहे।

दरअसल इस शूट से एक दिन पहले ही रंजीत के पिता की मौत हो गई थी। वे नहीं चाहते थे कि उनकी वजह से शूट में कोई दिक्कत आए। इसी उन्होनें शूट पर जाने का निर्णय लिया। उन्होनें बताया कि उन्हें कठोर दिल करके जोर जोर से हंसना पड़ा। लेकिन बीच बीच में उनके आंसू निकल रहे थे। वह आंसू छुपाने के लिए लगातार पानी से मुंह धो रहे थे।

रंजीत बताते हैं कि वह भले ही अपने किरदारों में महिलाओं के साथ अभद्र बर्ताव करते हो लेकिन रियल लाईफ में वे महिलाओं की बहुत इज्जत करते हैं। यही कारण था कि छेड़छाड़ वाले रोल्स में हीरोइन उनसे इतनी सहज हो पाती थीं। बता दें कि रंजीत का जन्म अमृतसर में हुआ था। वह 200 से ज्यादा हिंदी फिल्मों में सहायक भूमिकाओं में नजर आए चुके हैं।



Source श्री देवी को हंटर से मारने के बाद सारी रात चीख चीखकर रोया था ये एक्टर
https://ift.tt/3nB8NcA

Post a Comment

0 Comments