ads

अमिताभ बच्चन नहीं बनना चाहते थे एक्टर, बल्कि ये था सपना? चौंक जाएंगे आप!

महानायक अमिताभ बच्चन ने अपनी इस लंबी जर्नी में कई पड़ाव देखे हैं। सुपरहिट फिल्में दी, तो लगातार फ्लॉप फिल्मों का दबाव भी झेला। फिल्म के सेट पर घायल हुए, राजनीति में गये और फिर वापस इंडस्ट्री में कदम रखने वाले अमिताभ के भारत में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी करोड़ों चाहने वाले हैं। अमिताभ के पिता डॉ हरिवंश राय बच्चन मशहूर कवि थे। उनकी मां तेजी बच्चन कराची से थीं। हिंदी सिनेमा के रूपहले पर्दे पर अमिताभ को जो पहचान और शौहरत मिली है, उसकी हर अभिनेता को चाहत होती है। वह बॉलीवुड के सबसे सफल व दिग्गज अभिनेता माने जाते हैं।

यह भी देखें-जानिए आखिर किसके नाम का सिंदूर लगाती है रेखा, रेखा ने खुद किया इसका खुलासा

लेकिन क्या आप जानते हैं कि अमिताभ बच्चन अभिनेता नहीं बल्कि कुछ और बनना चाहते थे। खुलासा करते हुए खुद अमिताभ बच्चन ने कहा है कि वो बचपन से ही पायलट बनना चाहते थे। हालांकि उनकी मां तेजी बच्चन नहीं चाहती थीं कि अमित पायलट बने।

दरअसल उनकी मां डरती थीं कि अमिताभ के पैर काफी लंबे हैं और उनको दिक्कत होगी। इस बात का खुलासा अमिताभ बच्चन ने कौन बनेगा करोड़पति के दौरान किया था। अमिताभ बच्चन ने ये भी कहा कि वो एयरफोर्स में भर्ती होना चाहते थे। लेकिन मैं ये सोचता था कि मेरे पैर इतने लंबे हैं तो मैं जहाज कैसे उड़ाउंगा।

amitabh-bachchan-alexa.jpg

अमिताभ की सबसे बड़ी खासियत उनकी दमदार अदाकारी और डायलॉग है। उनकी कई फिल्मों के डायलॉग आज भी लोगों की जुबान पर चढ़े हुए हैं। ‘सात हिन्दुस्तानी’ फिल्म से अभिनय की दुनिया में कदम रखने वाले अमिताभ के लिए शुरू-शुरू में निर्देशकों का मानना था कि दुबले-पतले और सामान्य से अधिक लंबे इस शख्स में ऐसा कोई गुण नहीं है, जिसके कारण दर्शक उन्हें पर्दे पर पसंद करेंगे। लेकिन बिग बी ने अभिनय, अनुशासन और कड़ी मेहनत की बदौलत इंडस्ट्री में जो पहचान बनाई, वह हर किसी को नसीब नहीं होती है।

यह भी देखें-फिल्म की शूटिंग के दौरान प्रेग्नेंट हुईं ये अभिनेत्रियां, एक को तो बीच में छोड़नी पड़ी थी फिल्म

वह पिछले पांच दशकों से हिंदी फिल्मों में सक्रिय हैं। उन्होंने 200 से ज्यादा फिल्में की हैं। अपने अभिनय करियर में अनगिनत पुरस्कारों से नवाजे जा चुके हैं। उन्हें दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से लेकर पद्मश्री और पद्मभूषण तक का सर्वोच्च सम्मान मिल चुका है। तीन बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और 16 बार फिल्मफेयर अवॉर्ड जीतने वाले अमिताभ बच्चन सिर्फ एक्टर ही नहीं, बल्कि प्लेबैक सिंगर और फिल्म प्रोड्यूसर भी हैं। उन्होंने बड़े पर्दे के साथ ही छोटे पर्दे पर भी अपनी उपस्थिति से दर्शकों के दिलों में राज किया है। फिल्मों में उनके योगदान को देखते हुए साल 2015 में फ्रांस की सरकार ने भी उन्हें सर्वोच्च नागरिक सम्मान नाइट ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर से सम्मानित किया।

आखिरी बार उनको फिल्म 'चेहरे' में देखा गया था। इस फिल्म में उनके साथ इमरान हाशमी और अन्नू कपूर भी मुख्य भूमिका में थे। अमिताभ बच्चन इसके अलावा झुंड को लेकर चर्चा में चल रहे हैँ। लगातार वो इस उम्र में भी काम करते चले जा रहे हैँ।



Source अमिताभ बच्चन नहीं बनना चाहते थे एक्टर, बल्कि ये था सपना? चौंक जाएंगे आप!
https://ift.tt/3muevxq

Post a Comment

0 Comments